Sunday, July 13, 2014

बस जिंदगी युहीं गुजर जाय...



                                                          छोटासा मकान हो
उसमेही सुकुन हो
बस जिंदगी युहीं गुजर जाय...

किसीसे प्यार हो
उसीपे ऐतबार हो
बस जिंदगी युहीं गुजर जाय ...

छोटासा कारोबार हो
खुशीयोंकी भरमार हो
बस जिंदगी युहीं गुजर जाय ...

कुछ  सवाल सतातें हो
कुछ अनकहीं बातें हो
बस जिंदगी युहीं  गुजर जाय.....

दिल मे बहोतसी तमन्नाऐं हो
सभी नही पर, कुछ तो पुरी हो
बस जिंदगी युहीं गुजर जाय....

दोस्तोंमे प्यार हो
दुश्मन भी कभी यार हो
बस जिंदगी युहीं गुजर जाय....

बेफिक्र सुबह हो
चैनसे शाम ढलती हो
बस जिंदगी युहीं गुजर जाय....